इमरजेंसी के 50 वर्ष पूरे होने पर फूटा भाजपा नेताओं का गुस्सा

By :Admin Published on : 25-Jun-2024
इमरजेंसी

भारत में इमरजेंसी के दौर को 25 जून को 50 वर्ष पूर्ण हो चुके हैं। देशवासियों को आपातकाल के दौरान काफी यातनाओं और मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।  

सोशल मीडिया साइट एक्स पर आपातकाल की 50वीं बरसी पर टिप्पणी करते हुए सीएम डॉ. मोहन यादव ने कहा कि 'आपातकाल' लोकतंत्र का काला अध्याय है, जो असफलता की कुंठा से उपजे अहंकार और दमन के कुचक्र का प्रतीक है। 

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा 25 जून, 1975 में भारत पर थोपे आपातकाल के आज 50 साल पूरे हो गए। आपातकाल की 50वीं बरसी पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने प्रतिक्रिया देते हुए मंगलवार को कहा कि आपातकाल लोकतंत्र का काला अध्याय है। 

मां भारती की साहसी संतानों ने यातनाएं सहकर लोकतंत्र को पुनर्स्थापित किया - मोहन यादव 

मध्य प्रदेश सीएम ने कहा कि, 1975 में आज ही के दिन (25 जून को) इंदिरा गांधी की सरकार ने देश पर आपातकाल थोप दिया था। 

तब मां भारती की साहसी संतानों ने ही कड़ा प्रतिरोध किया और यातनाएं सहकर भी लोकतंत्र को पुनर्स्थापित किया। लोकतंत्र के लिए समर्पित सभी विभूतियों को शत्-शत् नमन करता हूं। 

आपातकाल के 50 साल पूरे होने पर सीएम योगी ने कांग्रेस पर निशाना साधा 

आपातकाल के 50 साल पूरे होने पर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि रात के अंधेरे में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार ने कैसे भारत के लोकतंत्र को नष्ट करने का प्रयास किया था। 

उस समय सभी विपक्षी दलों के नेताओं को जिसमें अटल बिहारी वाजपेयी, लाल कृष्ण आडवाणी, जय प्रकाश नारायण जैसे नेताओं को जेल में डालकर लोकतंत्र की हत्या करने का प्रयास किया। 

25 जून 1975 का दिन भारतीय लोकतंत्र में कभी भुलाया नहीं जा सकता- शिवराज सिंह चौहान 

मध्य प्रदेश के के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आपातकाल के 50 साल पूरे होने पर कहा कि 25 जून 1975 का दिन भारतीय लोकतंत्र के इतिहास का एक ऐसा काला अध्याय है, जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है। 

केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा, दंभ से भरी निरंकुश कांग्रेस सरकार ने संविधान की मर्यादा को तार-तार किया, अभिव्यक्ति की आजादी का गला घोंटा। 

शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि, भारत की लोकतांत्रिक परंपराओं पर विश्वास रखने वाले और देश के संविधान की गरिमा के प्रति समर्पित लोग, 25 जून को कभी नहीं भूल पाएंगे. आपातकाल में जेल गए लोकतंत्र सेनानियों की मार्मिक कहानियां सुनकर आज भी हृदय में पीड़ा के निशान उभर आते हैं.

19 महीने तक चला आपातकाल  

गौरतलब है कि आज ही के दिन 25 जून 1975 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आपातकाल लागू किया था। इस दौरान अपने राजनीतिक विरोधियों सहित तमाम लोगों को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया था। आपातकाल देश में लगभग 19 माह लागू रहा।